Monday, June 17, 2024
HomeNationalPM Modi Cabinet 2024: नरेंद्र मोदी की नई सरकार में राजस्थान के...

PM Modi Cabinet 2024: नरेंद्र मोदी की नई सरकार में राजस्थान के इन नेताओं को मिली जगह, देखें लिस्ट

- Advertisement -

India News Rajasthan (इंडिया न्यूज़), PM Modi Cabinet 2024:  लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने तीसरे कार्यकाल के लिए शपथ ली। मोदी सरकार 3.0 के नए मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण समारोह रविवार को राष्ट्रपति भवन में हुआ। इसमें राजस्थान से चार सांसदों को मंत्री पद दिया गया। इनमें अलवर से सांसद भूपेंद्र यादव और जोधपुर से सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत को कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया है। वहीं, अर्जुन राम मेघवाल और भागीरथ चौधरी ने राज्य मंत्री के तौर पर शपथ ली है। इसमें अर्जुन राम मेघवाल को स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया। राजस्थान कोटे से मंत्री बने भूपेंद्र यादव, गजेंद्र सिंह शेखावत और अर्जुन राम मेघवाल को एक बार फिर मोदी कैबिनेट में शामिल होने का मौका मिला है। वहीं, भागीरथ चौधरी को पहली बार मौका मिला है, आइए जानते हैं इन सांसदों के बारे में।

विधायक हारे, सांसद बने और मंत्री पद भी मिला

भागीरथ चौधरी अजमेर लोकसभा सीट से लगातार दूसरी बार सांसद बने हैं। 69 वर्षीय भागीरथ चौधरी 12वीं पास हैं, लेकिन उनके पास लंबा राजनीतिक अनुभव है। राजस्थान से बनने वाले मंत्रियों में जातिगत संतुलन बनाए रखने के लिए जाट समुदाय के इन नेताओं को मंत्री बनने का मौका मिल रहा है। भागीरथ चौधरी दो बार विधायक रह चुके हैं, लेकिन केंद्रीय मंत्रिमंडल में पहली बार जगह मिली है। साल 2023 में उन्हें विधानसभा चुनाव में मौका दिया गया, जहां उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

अर्जुन राम मेघवाल चौथी बार सांसद, तीसरी बार मंत्री

अर्जुन राम मेघवाल बीकानेर लोकसभा सीट से लगातार चौथी बार सांसद चुने गए हैं। वे पहले आईएएस अधिकारी थे। सरकारी नौकरी से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने के बाद वे राजनीति में आए थे। 70 वर्षीय अर्जुन राम मेघवाल पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में विधि एवं न्याय मंत्री रह चुके हैं। उनके पास संस्कृति और संसदीय कार्य मंत्री की भी जिम्मेदारी थी। अर्जुन राम मेघवाल दलित समाज के वरिष्ठ नेताओं में गिने जाते हैं।

गजेंद्र सिंह शेखावत तीसरी बार मंत्री बने

गजेंद्र सिंह शेखावत जोधपुर लोकसभा सीट से लगातार तीसरी बार सांसद चुने जाने के साथ ही कैबिनेट मंत्री भी बन गए हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को 2 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से हराया था। उन्हें राजपूत समाज का बड़ा चेहरा माना जाता है। साथ ही उन्हें पीएम मोदी और अमित शाह के करीबी नेताओं में से एक माना जाता है। 56 वर्षीय गजेंद्र सिंह शेखावत पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल में जल शक्ति मंत्री रह चुके हैं।

भूपेंद्र यादव पहली बार सांसद बने

भूपेंद्र यादव पहली बार लोकसभा सांसद बने हैं। इससे पहले वे राज्यसभा सांसद रह चुके हैं। राज्यसभा सांसद रहते हुए उन्हें मोदी कैबिनेट में जगह मिली थी। वे श्रम एवं रोजगार मंत्रालय में काम कर चुके हैं। इस बार पार्टी ने भूपेंद्र यादव को अलवर लोकसभा सीट से मैदान में उतारा था। भूपेंद्र यादव ने अलवर से कांग्रेस के ललित यादव को 48282 वोटों से हराया।

अश्विनी वैष्णव ओडिशा से राज्यसभा सांसद हैं, फिर मंत्री बने

अश्विनी वैष्णव ओडिशा से राज्यसभा सांसद हैं। वे मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले हैं। उनका जन्म पाली जिले के रानी के जीवंद कलां गांव में हुआ था। बाद में उनका पूरा परिवार जोधपुर में बस गया। उन्होंने जोधपुर के जय नारायण व्यास विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। बाद में आईआईटी कानपुर से एम.टेक करने के बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी शुरू कर दी।

Also Read: 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular