Friday, July 19, 2024
Homeहमारा राजस्थानBravery Against Chain Snatchers: महिला शिक्षक की हिम्मत से भागे लुटेरे

Bravery Against Chain Snatchers: महिला शिक्षक की हिम्मत से भागे लुटेरे

- Advertisement -

India News Rajasthan (इंडिया न्यूज़), Bravery Against Chain Snatchers: जयपुर में एक साहसी महिला शिक्षक ने अपनी बहादुरी से लुटेरों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। चेन स्नेचिंग की घटनाओं से परेशान शहर में, सुनीता जैन नाम की महिला शिक्षक ने एक ऐसी मिसाल कायम की है कि हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है।

रविवार दोपहर, जयपुर के एसएफएस कॉलोनी में सुनीता जैन अपने बच्चे को पार्क में घुमाने के लिए कार की ड्राइविंग सीट पर बैठी ही थी, तभी तीन बाइक सवार लुटेरों ने उन पर हमला करने की कोशिश की। उनमें से एक लुटेरा उनके पास आकर पता पूछने का बहाना बनाने लगा और अचानक उनके गले पर झपट्टा मारा। लेकिन सुनीता ने तुरंत उसकी चाल को भांप लिया और उसका हाथ कसकर पकड़ लिया। लुटेरा कई बार छटपटाया और चेन खींचने की कोशिश की, लेकिन सुनीता ने उसे नहीं छोड़ा।

लुटेरों ने भागने में ही भलाई समझी और वहां से फरार हो गए। इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आने के बाद, पूरे इलाके में सुनीता की बहादुरी की तारीफ हो रही है।

पुलिस की तत्परता

शिप्रापथ थानाधिकारी अमित शर्मा ने बताया कि सुनीता की बहादुरी से लुटेरे भाग तो गए, लेकिन वह इतनी सहम गईं कि पुलिस को घटना की जानकारी नहीं दी। जब पुलिस को घटना के बारे में पता चला, तो वे खुद सुनीता के घर गए और आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। पुलिस ने सुनीता को भरोसा दिलाकर मामला दर्ज करवाया और दावा किया कि सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे तीनों बदमाशों की पहचान कर जल्द उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

घटना की जानकारी

सुनीता जैन ने बताया कि जब वह अपनी कार में बच्चे को लेकर जा रही थीं, तभी तीन बाइक सवार युवक गली में घूम रहे थे। एक युवक उनकी कार के पास आकर पता पूछने लगा और फिर अचानक उनके गले पर झपट्टा मारा। सुनीता ने तुरंत अलर्ट होकर पहले अपनी गाड़ी का ब्रेक लगाया और फिर लुटेरे का हाथ पकड़ लिया। लुटेरा छटपटाता रहा, लेकिन सुनीता ने उसे नहीं छोड़ा। अंत में लुटेरों ने टूटी हुई चेन को वहीं पटक कर भागने में ही अपनी भलाई समझी। जाते-जाते लुटेरों के हाथ सिर्फ एक आर्टिफिशियल ब्रेसलेट लगा, जो सुनीता ने अपने हाथ में पहन रखा था। लेकिन उनकी कीमती सोने की चेन बच गई।

इस घटना ने साबित कर दिया है कि साहस और सूझबूझ से किसी भी मुसीबत का सामना किया जा सकता है। सुनीता जैन की बहादुरी ने न केवल लुटेरों को खदेड़ा, बल्कि पूरे समाज को एक नया हौंसला दिया है।

Also read :

Wife Murdered Husband: पत्नी के प्रेम प्रसंग का पति बना शिकार, गला रेत ली उसकी जान

Police Waali Gundi :मोना बुगालिया, फर्जी सब-इंस्पेक्टर बनकर करती रही धोखा

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular