Friday, July 19, 2024
HomepoliticsRajasthan Politics: राजेंद्र गुढ़ा ने मारा फ्लिप, नहीं लड़ेंगे शिवसेना से चुनाव

Rajasthan Politics: राजेंद्र गुढ़ा ने मारा फ्लिप, नहीं लड़ेंगे शिवसेना से चुनाव

- Advertisement -

India News Rajasthan (इंडिया न्यूज़), Rajasthan Politics: राजस्थान के झुंझुनूं से इस वक्त की बड़ी खबर मिल रही है। पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा एक बार फिर सुर्खियों में हैं। उनके एक बयान के बाद सियासी गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है, जिसके बाद अब कांग्रेस के बाद राजेंद्र सिंह गुढ़ा का शिव सेना से भी मोह भंग हो गया है। क्योंकि आज ईदगाह पर मुस्लिम लोगों को ईद की बधाई देने पहुंचे राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा है कि वे शिव सेना से चुनाव नहीं लड़ेंगे।

40 साल पहले सीकर और झुंझुनू की तस्वीर में ज़मीन आसमान का फर्क

शिव सेना शिंदे गुट के प्रदेश संयोजक राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने शिव सेना से चुनाव ना लड़ने की बात कही है। उत्साहित राजेंद्र सिंह गुढ़ा इन दिनों झुंझुनूं विधानसभा के प्रस्तावित उप चुनाव की तैयारियों को लेकर झुंझुनूं विधानसभा क्षेत्र में खासे सक्रिय हैं। इसी के चलते वे आज ईदगाह पहुंचे। यहां पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने कहा कि चालीस साल पहले झुंझुनूं जिला सीकर जिले से चार कदम आगे था। लेकिन अब एक हजार कदम पीछे है।

नालियों का पानी तक नहीं पहुँचता (Rajasthan Politics)

राजस्थान का सबसे पिछला जिला झुंझुनूं ही है। लोग नहर की बात करते हैं, लेकिन घरों की नालियों में पानी तक नहीं पहुंचाया जाता। रेलवे फाटकों पर जाम लगा रहता है। पुलिया नहीं बनाई जाएगी. खेल विश्वविद्यालय अब वापस आ गया है। जिस झुंझुनूं जिले की पहचान सैनिकों, किसानों, उद्योगपतियों और लोगों के हुनर ​​के लिए होती थी। उस जिले को आखिरी झलक पर लाकर छोड़ दिया। इसलिए झुंझुनूं के पुराने गौरव को वापस लाने के लिए काम करेंगे।

एआईएमआईएम सेन लड़ेंगे चुनाव

उन्होंने चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि यह तय है कि मैं शिव सेना से चुनाव नहीं लड़ूंगा। रही बात असदुद्दीन ओवैसी की तो वे उनके दोस्त हैं। हम रिश्तों में मिलते रहते हैं, मैं असदुद्दीन ओवैसी का सम्मान करता हूँ। गुढ़ा के इस बयान के बाद कयास लगाया जाने लगा है कि गुढ़ा अब असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन है, जिसे एआईएमआईएम के नाम से भी जाना जाता है, उससे चुनाव लड़ सकते हैं।

क्योंकि झुंझुनूं में मुस्लिम वोटरों की अच्छी खासी तस्वीर है। हाल ही में, राजेंद्र सिंह गुढ़ा के इस बयान से एक बार फिर ताजा चर्चाओं में उथल-पुथल मच गई है। साथ ही यह चर्चा भी शुरू हो गई है कि सबसे पहले लोकजन शक्ति पार्टी में, फिर बहुजन समाज पार्टी में, फिर कांग्रेस में, फिर शिवसेना के बाद अब क्या राजेंद्र सिंह गुढ़ा ओवैसी की पार्टी AIMIM में जाने वाले हैं।

Also read: 

Plants Safety: पौधों की सुरक्षा के लिए तैनात होंगे गार्ड : मंत्री

Rajasthan : राशन की मांग अब नहीं होगी OTP से पूरी

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular