Friday, July 19, 2024
HomeAccusationTeekaram Accusation: विधानसभा में माइक बंद करने का मुद्दा गरमाया, नेता प्रतिपक्ष...

Teekaram Accusation: विधानसभा में माइक बंद करने का मुद्दा गरमाया, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम का गंभीर आरोप

- Advertisement -

India News Rajasthan (इंडिया न्यूज़), Teekaram Accusation: राजस्थान विधानसभा में 3 जुलाई को विपक्ष के नेता टीकाराम जूली का माइक बंद करने का मुद्दा गर्मा गया। टीकाराम जूली ने आरोप लगाया कि सदन में बोलने के दौरान उनका माइक बंद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि लोकसभा में भी राहुल गांधी का माइक बंद किया गया था और अब राजस्थान विधानसभा में भी विपक्ष के साथ ऐसा ही बर्ताव हो रहा है।

विपक्ष ने राज्यपाल के अभिभाषण की मांग की

सदन में राज्यपाल के अभिभाषण की मांग को लेकर विपक्ष ने हंगामा किया। संसदीय कार्यमंत्री जोगाराम पटेल ने नियमों का हवाला देकर विपक्ष की मांग को गलत ठहराया। सदन की कार्रवाई के दौरान जब टीकाराम जूली ने बोलने की कोशिश की, तो उनका माइक बंद था, जिससे वे नाराज हो गए और स्पीकर वासुदेव देवनानी पर माइक बंद कराने का आरोप लगाया। बाद में स्पीकर की समझाइश से मामला शांत हुआ।

अनुच्छेद 176 का हवाला

टीकाराम जूली ने संविधान के अनुच्छेद 176 का हवाला देते हुए कहा कि नए सत्र की शुरुआत राज्यपाल के अभिभाषण से होनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने 1957 और 1962 की लोकसभा घटनाओं का भी जिक्र किया, जब संसद में इसी तरह की स्थिति आई थी।

संसदीय कार्यमंत्री का जवाब

जवाब में संसदीय मंत्री जोगाराम पटेल ने कहा कि नई सरकार के गठन के बाद पहले सत्र में सदस्यों को शपथ दिलाई जाएगी और राज्यपाल का अभिभाषण होगा। वर्तमान में यह दूसरा सत्र है और इसमें राज्यपाल का अभिभाषण नहीं होता। या तो विपक्ष को नियमों की जानकारी नहीं है या वे जानबूझकर हंगामा कर रहे हैं।

Also read:

Weather Update: राजस्थान में अगले सप्ताहभर रहेगा सूखा मौसम, 10 से 15 जुलाई के बीच होगी झमाझम बारिश

Transport Voucher Scheme : राजस्थान सरकार देगी छात्राओं को स्कूल आने-जाने के लिए भत्ता, हर साल मिलेगा 3000 से 5400 रुपये

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular