Friday, July 19, 2024
Homeहेल्थ / लाइफस्टाइलHeath Tips: गर्मियों में आपको फिट रखने के लिए 8 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

Heath Tips: गर्मियों में आपको फिट रखने के लिए 8 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

- Advertisement -

India News MP ( इंडिया न्यूज ), Heath Tips: आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ आयुर्वेद में इस्तेमाल की जाने वाली औषधीय जड़ी-बूटियाँ हैं, जो प्राकृतिक चिकित्सा की प्राचीन भारतीय प्रणाली है, जो इष्टतम स्वास्थ्य के लिए शरीर के दोषों (ऊर्जावान शक्तियों) को संतुलित करने पर जोर देती है। इनमें से कई जड़ी-बूटियाँ अपने शीतल गुणों के कारण गर्मियों के दौरान विशेष रूप से लाभकारी होती हैं, जो गर्मी को कम करने और शारीरिक संतुलन बनाए रखने में मदद करती हैं।

इन जड़ी-बूटियों को अपने आहार या दैनिक दिनचर्या में शामिल करने से आप पूरे गर्मी के मौसम में फिट और स्वस्थ रह सकते हैं। इस लेख में, हम आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों की एक सूची साझा करते हैं जिन्हें आप इस गर्मी में बेहतर स्वास्थ्य के लिए अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ जो गर्मियों में आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकती हैं

1. आंवला (भारतीय करौदा)

आंवला विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, जो प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने, शरीर को डिटॉक्सीफाई करने और त्वचा के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके शीतलक गुण गर्मी का मुकाबला करते हैं और सूजन को कम करते हैं। ताजे आंवले का रस या सूखे आंवले के पाउडर को पानी में मिलाकर रोजाना सेवन किया जा सकता है। आंवले को ताजा भी खाया जा सकता है, स्मूदी में मिलाया जा सकता है या हर्बल सप्लीमेंट के रूप में लिया जा सकता है।

Also Read- Rajasthan: उड़ान योजना में पूरी पारदर्शिता जरूरी

2. तुलसी (पवित्र तुलसी)
तुलसी में एडाप्टोजेनिक और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो शरीर को तनाव से निपटने और सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसमें ठंडक देने वाला गुण भी होता है, जो गर्मियों में फायदेमंद होता है। तुलसी के ताजे पत्तों को चबाया जा सकता है, या पत्तियों को पानी में उबालकर तुलसी की चाय बनाई जा सकती है। तुलसी के सप्लीमेंट भी उपलब्ध हैं।

3. पुदीने के पत्ते
पुदीने का शरीर पर ठंडा प्रभाव होता है और यह पाचन में सहायता करता है। यह पेट को शांत करने और पाचन संबंधी समस्याओं को कम करने में मदद करता है जो गर्मी की वजह से बढ़ सकती हैं। पुदीने के पत्तों को सलाद, पेय पदार्थों और चटनी में मिलाया जा सकता है। पुदीने की चाय भी ताजगी और ठंडक देती है।

4. एलोवेरा
एलोवेरा में ठंडक देने वाले और हाइड्रेटिंग गुण होते हैं, जो निर्जलीकरण को रोकने और त्वचा को आराम देने में मदद करते हैं। यह पाचन और विषहरण में भी सहायता करता है। एलोवेरा का जूस या जेल रोजाना पिया जा सकता है। इसे स्मूदी में भी मिलाया जा सकता है या सप्लीमेंट के तौर पर लिया जा सकता है।

5. नीम
नीम में मजबूत जीवाणुरोधी, एंटीफंगल और सूजन रोधी गुण होते हैं। यह शरीर को साफ करने, त्वचा के स्वास्थ्य का समर्थन करने और प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है। नीम के पत्तों को ताजा चबाया जा सकता है, या नीम के पाउडर को पानी में मिलाकर पिया जा सकता है। नीम के सप्लीमेंट भी उपलब्ध हैं।

6. धनिया
धनिया में ठंडक देने वाले गुण होते हैं और यह पाचन में सहायता करता है। यह शरीर को डिटॉक्स करने और सूजन को कम करने में भी मदद करता है। ताजा धनिया के पत्तों को सलाद, सूप और करी में मिलाया जा सकता है। धनिया के बीजों को मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है या चाय में बनाया जा सकता है।

7. ब्राह्मी
ब्राह्मी में ठंडक देने वाले गुण होते हैं और यह संज्ञानात्मक कार्य को बढ़ाने और तनाव को कम करने के लिए जाना जाता है। यह समग्र जीवन शक्ति को बनाए रखने में भी मदद करता है। ब्राह्मी पाउडर को पानी या दूध में मिलाकर पिया जा सकता है। ब्राह्मी चाय एक और विकल्प है, और सप्लीमेंट भी उपलब्ध हैं।

8. सौंफ के बीज
सौंफ में ठंडक देने वाले और पाचन संबंधी गुण होते हैं। यह सूजन को कम करने, पाचन में सुधार करने और आपकी सांसों को तरोताजा करने में मदद करता है। सौंफ के बीजों को भोजन के बाद चबाया जा सकता है, व्यंजनों में मिलाया जा सकता है या चाय में बनाया जा सकता है। सौंफ के पाउडर को पानी में भी मिलाया जा सकता है।

Also Read- Rajasthan: जापान भेजी जाएँगी राजस्थान की 2 लडकियां, जानिये हैं कौन

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular